ISSN : 2231-4989

हेलो शब्द कहाँ से आया?

टेलीफ़ोन पर बोला जाने वाला सबसे पहला शब्द है हेलो जिस तरह एक शरीर में कोशिकाएं बनती-बिगड़ती रहती हैं उसी तरह एक जीवित भाषा में भी शब्द बनते बिगड़ते और बाहर होते रहते हैं. जीवित भाषा से आशय है वह भाषा जिसे लोग विचार व्यक्त करने के लिए इस्तेमाल करते हैं जबकि मृत भाषा वह है जिसका रोज़मर्रा का इस्तेमाल अब ख़त्म हो चुका है और लोग लिखने-पढ़ने के लिए उन्हें इस्तेमाल नही करते. मिसाल के तौर पर संस्कृत और लेटिन भाषाएँ पुराने समय में ज्ञान और साहित्य की भाषाएं थीं और इन्हीं भाषाओं में प्राचीन विधा के बहुत से महत्वपूर्ण ख़ज़ाने सुरक्षित हैं यूरोप की जीवित भाषाओं में बहुत से ऐसे शब्द हैं जिनकी जड़ें हमें लेटिन या प्राचीन यूनानी भाषाओं में मिलती हैं. हर जीवित भाषा जहाँ अपनी प्राचीन भाषा से जीवन रस लेती है वहीं वह अपने आस-पास की भाषाओं से भी प्रभावित होती हैं, मिसाल के तौर पर उर्दू भाषा में प्राचीन लोक भाषाओं और संस्कृत के शब्दों का सुराग़ मिलता है, वहीं उसने फारसी और अरबी से भी फ़ायदा उठाय़ा है. आज की पकिस्तानी उर्दू में पंजाबी और दूसरी लोक भाषाओं के शब्द भी मिलते हैं. अंगरेज़ी भी एक जीवित भाषा है, जिसके ज्ञान और साहित्य का भंडार हालांकि यूरोप की क्लासिकी भाषाओं से आया है लेकिन दुनिया भर में अंगरेजों की हुकुमत होने के कारण अंगरेज़ी का दुनिया की विभिन्न भाषाओं से वास्ता पड़ता रहा और यूं कई भाषाओं के शब्द अंगरेज़ी में शामिल होते रहे. लेखों के इस नए सिलसिले में हम अंगरेज़ी के कुछ शब्दों का इतिहास खंगालेंगे और यह जानने की कोशिश करेंगे कि आधुनिक रूप लेने से पहले यह शब्द प्रगति की किन-किन मंज़िलों से गुज़रे हैं. क्या आप बता सकते है कि आजकल अंगरेजी का सबसे ज्यादा बोला जाने वाला शब्द कौन सा है? जी हाँ, 'Hello'. तो आइए हम अपनी खोज की शुरूआत इसी शब्द से करते हैं. कुछ लोगों का कहना है कि यह प्राचीन फ्रांसीसी शब्द Hola से निकला है जिसका मतलब है 'कैसे हो' और यह फ्रांसीसी शब्द 1066 ईसवी के नारमन हमले के समय इंगलिस्तान पहुंचा था. लेकिन दो तीन सदियों में इस शब्द का रूप काफ़ी बदल गया है. हाथ मिलाना हाथ मिलाते समय भी सबसे पहले बोलते हैं हेलो अंगरेजी भाषा के कवि चॉसर के ज़माने तक यानी 1300 के बाद यह शब्द Hallow का रूप ले चुका था. फिर शेक्सपियर के ज़माने में यानी दो सौ साल बाद यही शब्द Halloo के रूप में ढल गया और शिकारियों और मल्लाहों के हत्थे चढ़ा तो इसके कई रूप सामने आए जैसे: Hallloa, Hallooa, Hollo. वर्ष 1800 तक इस शब्द का एक विशेष रूप तय हो चुका था और वह था Hullo.कुछ अरसे बाद जब टेलिफ़ोन का अविष्कार हुआ तो इस शब्द को नयी पहचान मिली. शुरूआत में लोग फोन पर हेलो कहने के बजाए पूछा करते थे Are you there? क्योंकि तब उन्हें यह विश्वास नहीं था कि उनकी आवाज़ दूसरी ओर पहुंच रही है. लेकिन अमेरिकी अविष्कारक थॉमसन एडिसन को इतना लंबा शब्द पसंद नहीं था. उन्होंने जब पहली बार फ़ोन किया तो उन्हें य़कीन था कि दूसरी ओर उनकी आवाज़ पहुंच रही है. चुनांचे उन्होंने सिर्फ इतना कहा Hello. तब से आज तक दुनिया भर में टेलिफोन पर बात-चीत की शुरूआत इसी शब्द से होती है.

News: >>प्रकाशकीय नीति>>संकटग्रस्त भाषाओं के सर्वेक्षण का काम शुरू>> हेलो शब्द कहाँ से आया? >>देश की भाषाओं के लिए नई ऊर्जा से काम करने की आवश्यकता है